आईएएस ऑफिसर(IAS OFFICER) कैसे बने और उसकी तैयारी ? 

By subhash
Last update:

आईएएस ऑफिसर(IAS OFFICER) कैसे बने और उसकी तैयारी ? 

एक सिविल परीक्षा की तैयारी करने वाले स्टूडेंट के दिमाग में हमेशा या क्वेश्चन रहता है कि UPSC सिविल परीक्षा को क्वालीफाई करने के बाद आईएएस(IAS) ऑफिसर कैसे बने?

ias kaise bane

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जामिनेशन को क्वालीफाई करना पड़ता है और जैसा कि हम सभी को मालूम है कि यूपीएससी इंडिया की सबसे कठिन एग्जाम में से एक है.

आज के इस आर्टिकल में हम लोग बात करेंगे कि अगर आप आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आप एक आईएएस ऑफिसर कैसे बन सकते हैं और आईएएस ऑफिसर बनने के लिए तैयारी कैसे करें.

आईएएस ऑफिसर कैसे बने?

आपको एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले CSE ( Civil Services Examination ) यानी  सिविल सेवा परीक्षा को क्वालीफाई करना पड़ेगा जो कि हर साल UPSC द्वारा संचालित किया जाता है आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, केंद्र सरकार की सेवाओं के साथ-साथ अन्य संबद्ध सेवाओं सहित लगभग 25 सेवाओं के लिए सिविल सेवकों की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है।

यूपीएससी प्रत्येक वर्ष जनवरी-फरवरी के आसपास आवेदन आमंत्रित करने की notification जारी करता है, और पहले चरण या प्रारंभिक परीक्षा आमतौर पर मई के अंत या जून की शुरुआत में आयोजित की जाती है।

UPSC तीन चरणों में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है: 

  1. प्रारंभिक परीक्षा 
  2. सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा
  3.  व्यक्तित्व परीक्षण या साक्षात्कार

आईएएस ऑफिसर कैसे बने और उसकी तैयारी ? 

 अगर आपको एक आईएएस ऑफिसर बनना है तो सबसे ज्यादा फोकस आपको इस बात पर करना चाहिए कि आप एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए तैयारी कैसे कर रहे हैं

 एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए सीएससी (CSE) एग्जाम जो कि  UPSC द्वारा संचालित किया जाता है  उत्तीर्ण करना होगा आमतौर पर, सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में लगभग 8-12 महीने लगते हैं। क्योंकि यह एक कठिन परीक्षाओं में से एक है इसलिए, आपको संपूर्ण पाठ्यक्रम को समग्र रूप से तैयार करने के लिए लगभग एक साल पहले शुरू करना होगा। 

यहां कुछ बुनियादी कदम दिए गए हैं, जिनका आपको पालन करना होगा

एक मजबूत नींव बनाने पर काम करें 

यदि आप अपनी तैयारी के लिए एक मजबूत संरचना प्रदान करना चाहते हैं तो एक मजबूत आधार अत्यंत महत्वपूर्ण है। 

इसलिए, Basic से शुरू करें। एनसीईआरटी (NCERT) सूचना का अत्यंत महत्वपूर्ण और बुनियादी स्रोत है जो आपको उन विषयों से परिचित कराएगा जिनकी आपको यूपीएससी की तैयारी के लिए विस्तार से अध्ययन करने की आवश्यकता है।

 इसलिए, UPSC के लिए अपनी तैयारी को किकस्टार्ट करने के लिए NCERT को देखें.

 अच्छी और उपयोगी किताबें पढ़ें

 किसी भी सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करते समय हमारे दिमाग में यह प्रश्न उठता है कि कौन सी किताब है इसके लिए अच्छी हैं वैसे ही आपको यूपी एससी की तैयारी के लिए स्टैंडर्ड किताबों की आवश्यकता होगी

 मार्केट में ऐसी बहुत सी किताबें हैं जो इसकी तैयारी के लिए मदद कर सकते हैं लेकिन मैं आपको यह सजेशन दूँगा कि आप कुछ ऐसे ही इंटरव्यू देखें जिसमें किसी यूपीएससी क्लियर करने वाले स्टूडेंट ने कुछ किताबों का सजेशन दिया हो बाकी आप किसी से मदद भी ले सकते हैं.

Current affairs

Current affairs से सीधे सवाल प्रीलिम्स परीक्षा में हर साल पूछे जाते हैं। इसलिए, यूपीएससी के लिए लगभग 12-18 महीने के वर्तमान मामलों को पढ़ना महत्वपूर्ण है। 

आप या तो करंट अफेयर्स पर एक कोर्स ज्वाइन कर सकते हैं जो निश्चित रूप से महत्वपूर्ण जानकारी को आसानी से समेटने में आपकी मदद करेगा या आप इसे समाचार पत्रों या पत्रिकाओं के माध्यम से कवर कर सकते हैं.

मॉक टेस्ट और उत्तर-लेखन अभ्यास

मॉक टेस्ट और उत्तर-लेखन यूपीएससी की तैयारी में दो सबसे महत्वपूर्ण स्तम्भ हैं। आप उनके बिना अपनी यूपीएससी की तैयारी पूरी नहीं कर सकते हैं! जबकि mock test  आपकी तैयारी का विश्लेषण करने में मदद करता है और आपको अपने कमजोर क्षेत्रों पर अंतर्दृष्टि प्रदान करता है, answer writing  अभ्यास आपके लेखन कौशल का सम्मान करने और आपकी उत्तर-लेखन तकनीकों को पूरा करने में मदद करता है।

 इसलिए, अपनी तैयारी में दोनों को लागू करें।

बार-बार रिवीजन(Revision)करें

रिवीजन जिसे हिंदी में संशोधन कहां जाता है, यूपीएससी (UPSC) की तैयारी का भी महत्वपूर्ण हिस्सा है। आपने जो भी अध्ययन किया है उसे रिवीजन करना बहुत ही इंपॉर्टेंट है अब यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितने बार उसे रिवाइज करते हैं.

जब हम किसी चीज को पढ़ते हैं तो तारीखों और घटनाओं को भूल जाते हैं, इसलिए आपके दिमाग में उन अवधारणाओं को बनाए रखने के लिए करना बहुत महत्वपूर्ण है।

आईएएस ऑफिसर का क्या काम होता है?

एक IAS अधिकारी का काम सरकार की नीतियों को लागू करना सरकार की मंजूरी हो के साथ तथा उन नीतियों को पालन करवाना एक आईएएस ऑफिसर का धर्म है और साथ ही प्रशासन, नीतियों के कार्यान्वयन, और नीतियों की कार्यान्वयन स्थिति और प्रभाव के बारे में संबंधित मंत्रालयों को महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया प्रदान करने में सरकार की सहायता करता है।

आपके जिले में उपस्थित डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट(DM) कलेक्टर या कमिश्नर एक आईएएस ऑफिसर हो सकता है तथा उनके कामों और तथा उनके काम करने को देखकर उनके पदों में वृद्धि की जा सकती है यानी उनका प्रोमोशन बड़े-बड़े पदों पर किया जा सकता है जिनमें से कुछ पद कैबिनेट सेक्रेटरी, जॉइंट सेक्रेटरी, अंडर सेक्रेटरी , डिप्टी सेक्रेटरी आदि  है.

READ ALSO 

satellite क्या होते हैं तथा सैटेलाइट कैसे काम करते हैं?

फेसबुक पर अपना नाम कैसे बदलें?

B tech kaise kare?job,career,eligibility,सैलरी(बीटेक कोर्स कैसे करें)

SSC full form – SSC exam की पूरी जानकारी हिंदी में।

Photo of author
AUTHOR
subhash
This is Subhash founder of jankaricenter.com, content creator, and SEO techie. this site dedicated to Hindi readers where I share only Hindi informational content.

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status