आईटीआई (ITI)क्या है?फायदे,फीस,एडमिशन प्रोसेस और नौकरी

आईटीआई क्या है? और इससे जुड़ी कुछ चीजें हमें जानना जरूरी है क्योंकि हम सभी सोचते हैं कि अगर हमारे पास सरकारी नौकरी हो, तो हमारे जीवन सुखमय होगा

अगर आप सरकारी नौकरी चाहते हैं तो आईटी कोर्स आपके लिए एक बेहतर ऑप्शन हो हो सकता है क्योंकि आईटीआई करने के बाद  प्राइवेट तथा सरकारी सेक्टर में इसके लिए कई नौकरियां निकलती रहती हैं

आज आप जानेंगे आईटीआई  की पूरी जानकारी और आप यह कोर्स कैसे कर सकते हैं।

iti kya hai

आईटीआई (ITI)क्या है? iti kya hai. 

आईटीआई(ITI) का मतलब औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान  यानी Industrial Training Institute है। आईटीआई की स्थापना भारतीय छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से की गई है। ITI का गठन DGET, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय और केंद्र सरकार के तहत किया जाता है। आईटीआई करने के बाद में आप सरकारी और प्राइवेट नौकरी आसानी से पा सकते हैं. इस कोर्स में अलग- अलग प्रकार के ट्रेड होते है

जैसा कि मैंने पहले बताया, आईटीआई छात्रों को तकनीकी प्रशिक्षण प्रदान करता है। जिससे वे व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने और उद्योग-विशिष्ट कौशल विकसित करने पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित कर सके। ऐसे संस्थानों का मुख्य उद्देश्य भारत में एक कुशल कार्यबल विकसित करना होता  है।

वर्तमान में, पूरे भारत में कई आईटीआई  हैं, जिसमें दोनों सरकारी और निजी शामिल है, जो छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। प्रशिक्षण पूरा होने पर, उम्मीदवार AITT AITT (All India Trade Test) के लिए उपस्थित होते हैं। सफल उम्मीदवारों को NTC (National Trade Certificate) दिया जाता है।

आईटी आई(ITIs) का मुख्य उद्देश्य( main aim ) अपने छात्रों को उद्योग के लिए तैयार करना है, जिससे उन्हें उनके कौशल (skill)  के आधार पर जल्द से जल्द नौकरी मिल सके। 

भारत में ITI प्रशिक्षण कार्यक्रम ,जिन्हें ‘ट्रेड’ के रूप में जाना जाता है। प्रत्येक व्यापार एक विशिष्ट उद्योग या किसी कौशल पर केंद्रित होता है। 

ITI Course के फायदे

सभी को अपने जीवन को व्यतीत करने के लिए डॉक्टर या इंजीनियर बनने की जरूरत नहीं है। क्योंकि यदि आप एक मैकेनिक या तकनीशियन बनने की योजना बना रहे हैं, तो आपको  डिप्लोमा या पूरी डिग्री हासिल करने की आवश्यकता नहीं है। आईटीआई पाठ्यक्रम विशेष रूप से इन उद्देश्यों के लिए तैयार किए गए हैं, 

 अगर  हम आईटीआई पाठ्यक्रमों के लाभों पर एक नज़र  डाले तो:।

  •  आसान रोजगार । 
  • Early Job  settlement , 3 साल की एक नियमित डिग्री का अध्ययन करने की आवश्यकता नहीं । 
  • आईटीआई पाठ्यक्रम  8 वीं, 10 वीं और 12 वीं कक्षा के बाद join किया जा सकता है। 

 

आईटीआई में एडमिशन प्रोसेस?

 आईटीआई ऐडमिशन प्रोसेस एक बहुत ही सरल प्रोसेस है इसमें आपको आईआईटी में एडमिशन लेने के लिए एक   फॉर्म भरकर जमा करना होता है जो प्रत्येक वर्ष जुलाई के महीने में निकलता है आईटीआई मे मेरिट बेस पर आपका admission होता है। 

अगर आपको किसी कोर्स को  चुनना है तो आपका क्वालिफिकेशन मायने रखता है क्योंकि हर कोर्स क्वालिफिकेशन के बेस पर होता है आप अगर 8वीं 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट है तो आप आईटीआई में एडमिशन ले सकते हैं और अपने इच्छा अनुसार कोर्स को चुन सकते हैं लेकिन यहां ध्यान दें की कोर्स क्वालिफिकेशन के आधार पर डिवाइड होती है। 

आईटीआई की फीस ?

 अगर बात की जाए आईटीआई के फीस के बारे में तो  यहां डिपेंड करता है कि आप कौन से कॉलेज को join कर रहे हैं, सरकारी कॉलेज  मे एडमिशन के लिए आपको किसी तरह के fees फीस की जरूरत नहीं होती, लेकिन वही अगर आप किसी प्राइवेट इंस्टीट्यूट को ज्वाइन करते हैं तो आपको उसके हिसाब से वहां की फीस देनी होगी 

ITI diploma के बाद नौकरी?

आईआईटी डिप्लोमा करने के बाद हमारे दिमाग में सबसे बड़ा सवाल यही रहता है की आईटी डिप्लोमा करने के बाद हमें नौकरी मिलेगी या नहीं, अगर बात की जाए आईटीआई डिप्लोमा की तो  इसे करने के बाद आपके सामने नौकरी के कई विकल्प होते हैं क्योंकि कई सरकारी और प्राइवेट संस्थाओं में इसकी वैकेंसी निकलती रहती हैं जिन वैकेंसी मे आईटीआई डिप्लोमा की मांग होती है इसके अंतर्गत आप सरकारी सेक्टर में भी जॉब पा सकते हैं जोकि यह हर किसी का सपना होता है।

 

Subhash Kumar is the Writer and editor in Jankari Center Who loves Shearing Informational content like this.

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status