ITI क्या है तथा आईटीआई कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में?

आईटीआई(ITI) क्या है? और इससे जुड़ी कुछ बातें? जो हमें जानना जरूरी है क्योंकि हम सभी सोचते हैं कि अगर हमारे पास सरकारी नौकरी हो, तो हमारे जीवन सुखमय होगा ।

अगर आप सरकारी नौकरी चाहते हैं तो ITI COURSE आपके लिए एक बेहतर ऑप्शन हो सकता है क्योंकि ITI करने के बाद  प्राइवेट तथा सरकारी सेक्टर में इसके लिए कई नौकरियां निकलती रहती हैं।

आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए आईआईटी से जुड़े सारी जानकारी संक्षिप्त में देने की कोशिश करेंगे

आईटीआई (ITI)क्या है? iti kya hai. 

iti kya hai
ITI kya Hai

आईटीआई(ITI) का मतलब औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान यानी Industrial Training Institute है। आईटीआई की स्थापना भारतीय छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से की गई है। ITI का गठन DGET, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय और केंद्र सरकार के तहत किया जाता है। 

ITI करने के बाद में आप सरकारी और प्राइवेट नौकरी आसानी से पा सकते हैं. इस कोर्स में अलग- अलग प्रकार के ITI TREDS होते है।

जैसा कि मैंने पहले बताया, आईटीआई छात्रों को तकनीकी प्रशिक्षण प्रदान करता है। जिससे वे व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने और उद्योग-विशिष्ट कौशल विकसित करने पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित कर सके। ऐसे संस्थानों का मुख्य उद्देश्य भारत में एक कुशल कार्यबल विकसित करना होता  है।

वर्तमान में, पूरे भारत में कई आईटीआई  हैं, जिसमें दोनों सरकारी और निजी शामिल है, जो छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। प्रशिक्षण पूरा होने पर, उम्मीदवार AITT (All India Trade Test) के लिए उपस्थित होते हैं। सफल उम्मीदवारों को NTC (National Trade Certificate) दिया जाता है।

ITI का मुख्य उद्देश्य)अपने छात्रों को उद्योग के लिए तैयार करना है, जिससे उन्हें उनके कौशल (SKILLS)  के आधार पर जल्द से जल्द नौकरी मिल सके। 

भारत में ITI प्रशिक्षण कार्यक्रम ,जिन्हें ‘ट्रेड’ के रूप में जाना जाता है। प्रत्येक व्यापार एक विशिष्ट उद्योग या किसी कौशल पर केंद्रित होता है। 

यह भी पढ़ें:
ITI FULL FORM : ITI course की पूरी जानकारी हिंदी में।
2021 में सर्वश्रेष्ठ ITI TRADE सरकारी नौकरी के लिए?
एसएससी(SSC) क्या है?(SSC CHSL, SSC CPO की जानकारी)
MBA kya hai-ऍम.बी.ए. क्या हैं(MBA में subjects)
ca kya hai ? job -scope -pros and cons

ITI में Admission process?

ITI में Admission process एक बहुत ही सरल प्रोसेस है इसमें आपको आईआईटी में एडमिशन लेने के लिए एक  फॉर्म भरकर जमा करना होता है जो प्रत्येक वर्ष जुलाई के महीने में निकलता है आईटीआई मे मेरिट बेस पर आपका admission होता है। 

अगर आपको किसी कोर्स को  चुनना है तो आपका क्वालिफिकेशन मायने रखता है क्योंकि हर कोर्स क्वालिफिकेशन के बेस पर होता है आप अगर 8वीं 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट है तो आप आईटीआई में एडमिशन ले सकते हैं और अपने इच्छा अनुसार कोर्स को चुन सकते हैं लेकिन यहां ध्यान दें की कोर्स क्वालिफिकेशन के आधार पर डिवाइड होती है। 

ITI कोर्स की लागत

कई राज्यों में ITI कोर्स की फीस इंजीनियरिंग डिग्री से भी कम है। आमतौर पर, इन पाठ्यक्रमों की फीस आईटीआई इंजीनियरिंग Trades के लिए INR 1,700 से INR 79,000 तक होती है। दूसरी ओर, ITI गैर-इंजीनियरिंग Trades के लिए, शुल्क लगभग INR 3,950 से INR 7,000 हो सकता है। इसके अलावा, ITI शुल्क सरकारी और निजी क्षेत्रों में भिन्न हो सकता है।

यदि कोई छात्र छात्रावास आवास का उपयोग करना चाहता है, तो उसे छात्रावास के लिए अतिरिक्त भुगतान करना पड़ सकता है। हालांकि, कुछ राज्य आर्थिक रूप से वंचित या आरक्षित श्रेणियों के छात्रों के लिए ट्यूशन फीस में पूर्ण या आंशिक रियायत देते हैं।

ITI कोर्स की अवधि

यदि छात्र पाठ्यक्रम चुनते हैं तो आईटीआई पाठ्यक्रम की अवधि एक वर्ष या तीन वर्ष से भिन्न होती है। पाठ्यक्रम पूरा होने पर, छात्रों को उनके पाठ्यक्रम के लिए प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा जिसके बाद वे अपने विषय के अनुसार अपनी विशेषज्ञता के आधार पर उपयुक्त नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ITI प्रवेश पात्रता

कुशल श्रमिकों की आवश्यकता हर रोज मांग में है और ITI कार्यक्रमों द्वारा पेश किए जाने वाले विशाल कैरियर के अवसरों के साथ। भारत सरकार भी आईटीआई संस्थानों या अन्य संस्थानों के माध्यम से विभिन्न डिप्लोमा पाठ्यक्रम कार्यक्रम चलाकर कौशल विकास कार्यक्रमों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। भारत में कई सरकारें और आईटीआई के निजी संस्थान हैं जो छात्रों को व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। आईटीआई प्रवेश के विवरण वर्गीकृत और सूचीबद्ध हैं।

भारत में ITI पाठ्यक्रमों के लिए पात्रता मानदंड हैं।

शैक्षणिक योग्यता कम से कम 8वीं, 10वीं और 12वीं कक्षा होनी चाहिए, जो एक पाठ्यक्रम से दूसरे पाठ्यक्रम में भिन्न होती है।

प्रवेश के वर्ष की तिथि पर आवेदक की आयु 14-40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

छात्रों के लाभ के लिए आईटीआई प्रवेश के बारे में विस्तृत विवरण नीचे दिया गया है।

ITI Course: इस कोर्स के लाभ

ITI कोर्स आठवीं से बारहवीं तक के सभी बच्चे कर सकते हैं। किसी भी प्रकार का पुस्तक ज्ञान या अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान होना आवश्यक नहीं है, और ITI में प्रवेश के लिए किसी ग्रेड की आवश्यकता नहीं है। 

आईटीआई में आपको ट्यूशन फीस नहीं देनी होती है आप फ्री में ITI कोर्स कर सकते हैं। 

ITI पूरा करने के बाद आप सीधे डिप्लोमा (पॉलिटेक्निक) के दूसरे वर्ष में प्रवेश ले सकते हैं। 

ITI में आपको 6 महीने, 1 साल और 2 साल का कोर्स मिलता है.

यदि आप किसी सरकारी कॉलेज में प्रवेश लेते हैं, तो आपको नामांकन शुल्क नहीं देना पड़ता है, लेकिन यदि आप किसी निजी कॉलेज में दाखिला लेना चाहते हैं, तो आपको उस संस्थान द्वारा निर्धारित दर का भुगतान करना होगा।

ITI diploma के बाद नौकरी?

आईआईटी डिप्लोमा करने के बाद हमारे दिमाग में सबसे बड़ा सवाल यही रहता है की आईटी डिप्लोमा करने के बाद हमें नौकरी मिलेगी या नहीं, अगर बात की जाए आईटीआई डिप्लोमा की तो  इसे करने के बाद आपके सामने नौकरी के कई विकल्प होते हैं क्योंकि कई सरकारी और प्राइवेट संस्थाओं में इसकी वैकेंसी निकलती रहती हैं जिन वैकेंसी मे आईटीआई डिप्लोमा की मांग होती है इसके अंतर्गत आप सरकारी सेक्टर में भी जॉब पा सकते हैं जोकि यह हर किसी का सपना होता है।

Photo of author
Author
subhash
Subhash Kumar is the Writer and editor in Jankari Center Who loves Shearing Informational content like this.

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status